धूर्त लोमड़ी – Moral Story in Hindi, Hindi Short Story, Hindi Story

यह एक धूर्त लोमड़ी और सारस की कहानी है. धूर्त लोमड़ी हमेशा सारस के साथ मजाक करती रहती थी. लेकिन एक दिन सारस ने भी उसे उसी तरह सबक सिखाने का फैसला किया. आइये पढ़ते हैं कि आखिर सारस ने उस धूर्त लोमड़ी को कैसे सबक सिखाया.

Also Read – गुप्त मंत्र – कहानी, Gupt Mantra, Hindi Story, Short Moral Story

कहानी : एक धूर्त लोमड़ी ने एक सारस से दोस्ती कर ली। जल्द ही ही दोनों में खूब दावत का सिलसिला चलने लगा। दूसरों को बेवकूफ बनाकर मजाक करने में लोमड़ी को बहुत मजा आता था। एक दिन लोमड़ी के दिमाग में कुछ खुराफात सूझी. उसने सारस से ऐसा ही मजाक करने का इरादा बनाया। उसने सारस को रात्रिभोज की दावत देकर घर बुलाया। सारस ने लोमड़ी का निमन्त्रण स्वीकार कर लिया।

Also Read – मूर्ख कछुआ की कहानी – Hindi Story, Moral Story in Hindi, Short Story

लोमड़ी ने अपने मित्र सारस के सामने एक उथली थाली में सूप परोस दिया। सूप को देखकर सारस के मुँह में पानी आने लगा। धूर्त लोमड़ी थोड़े ही समय में सारा सूप चट कर गई, जबकि बेचारा सारस अपनी लम्बी चोंच से दो-चार बूंदें ही चख पाया। सारस को उस पर बहुत गुस्सा आ रहा था. सारस को भूखा ही लौटना पड़ा. भूखे सारस ने इस मजाक का बहुत बुरा माना और निराश हो गया.

Also Read – हीरों का सौदा Heeron ka Sauda – Hindi Story, Hindi Short Story, Moral Story

सारस ने उस लोमड़ी से बदला लेने का सोचा. उसने ने लोमड़ी को भी उसी जैसे तरीके से बेवकूफ बनाने का फैसला किया। उसने भी एक दिन लोमड़ी को रात्रिभोज की दावत देकर अपने घर पर बुलाया। उसने अपने मित्र लोमड़ी के सामने पके हुए चावलों से भरा एक लम्बी और तंग गर्दन वाला सुराही की तरह का ऊँचा जार रख दिया। जिस कारणलोमड़ी उसमें से एक दाना भी न खा सकी। वह केवल जार की बाहरी सतह ही चाटती रही। सारस ने अपनी लम्बी चोंच से खूब छक कर भोजन किया।

Also Read – भेड़िया और बाँसुरी – Moral Story in Hindi, Short Story, Hindi Story

लोमड़ी का मुँह लटक गया। निराश होकर वह लौट पड़ी। धूर्त लोमड़ी की इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि जो जैसा करता है उसके साथ भी वैसा ही होता है. जो जैसा बजाएगा वो वैसा ही काटेगा. जैसे को तैसा.

One thought on “धूर्त लोमड़ी – Moral Story in Hindi, Hindi Short Story, Hindi Story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *