बुरी आत्मा की कहानी – लोक कथा | Hindi Story, Hindi Kahani, Lok Katha

बुरी आत्मा की कहानी – लोक कथा | Buri Aatma ki Kahani | Hindi Story, Hindi Kahani, Lok Katha. यह एक अच्छी और बुरी आत्मा की कहानी है. मुख्यतः ये एक लोक कथा है. बुरी आत्मा की कहानी हर गाँव में प्रचलित हैं. ये भी उन्हें में से एक है. तो आईये पढ़ते हैं बुरी आत्मा की कहानी.

Also Read – चालाक खरगोश की कहानी – Chalak Khargosh ki Kahani, Hindi Story, Stories for kids

एक बार बुरी आत्माओं ने भगवान से शिकायत की कि उनके साथ इतना बुरा व्यवहार क्यों किया जाता है। जबकि हम सब आप ही की संतान हैं। इस पर भगवान ने सभी अच्छी-बुरी आत्माओं को बुलाया और बोले- ‘आज से तुम लोगों को रहने के लिए मैंने जो भी महल या खंडहर दिए थे, वो सब नष्ट हो जायेंगे। अच्छी और बुरी आत्माएं अपने अपने लिए दो अलग-अलग शहरों का निर्माण करेंगी।’

Also Read – प्यार की शक्ति – Pyar ki Shakti, Hindi Kahani, Hindi Story

तभी एक आत्मा बोली- ‘लेकिन इस निर्माण के लिए हमें ईंटें कहां से मिलेंगी?’ ‘जब पृथ्वी पर कोई इंसान सच या झूठ बोलेगा तो यहां पर उसके बदले में ईंटें तैयार हो जाएंगी। सभी ईंटें मजबूती में एक समान होंगी। अब ये तुम लोगों को तय करना है कि तुम सच बोलने पर बनने वाली ईंटें लोगे या झूठ बोलने पर!’ भगवान ने उत्तर दिया।

Also Read – लालची कबूतर की कहानी – Lalchi Kabootar Ki Kahani | Hindi Story | Stories for Kids

बुरी आत्माओं ने सोचा, पृथ्वी पर झूठ बोलने वाले लोग अधिक हैं। यदि उन्होंने झूठ बोलने पर बनने वाली ईंटें ले लीं तो एक विशाल शहर का निर्माण हो सकता है। उन्होंने भगवान से झूठ बोलने पर बनने वाली ईंटें मांग ली। दोनों शहरों का निर्माण एक साथ शुरू हुआ।

Also Read – मक्खी का लालच कहानी – Hindi Story, Short Story

कुछ ही दिनों में बुरी आत्माओं का शहर विशाल रूप लेने लगा। उन्हें लगातार ईंटों के ढेर मिलते जा रहे थे। उससे उन्होंने एक शानदार महल बना लिया। वहीं अच्छी आत्माओं का निर्माण धीरे चल रहा था। काफी दिन बीत जाने पर भी उनके शहर का एक ही हिस्सा बन पाया था।

Also Read – बोलती गुफा की कहानी – Bolti Gufa ki Kahani, Hindi Kahani, Hindi Story

एक दिन अजीब-सी घटना घटी। बुरी आत्माओं के शहर से ईंटें गायब होने लगीं। देखते-देखते उनका शहर खंडहर का रूप लेने लगा। परेशान आत्माएं तुरंत भगवान के पास भागीं और पूछा- ‘हे प्रभु, हमारे महल से अचानक ये ईंटें गायब क्यों होने लगीं। हमारा शहर तो फिर से खंडहर बन गया।’ भगवान मुस्कराकर बोले- ‘लगता है जिन लोगों ने झूठ बोला था, उनका झूठ पकड़ा गया। इसीलिए उनके झूठ बोलने से बनी ईंटें भी गायब हो गयीं।’ आपको बुरी आत्मा की कहानी कैसी लगी. यहाँ कमेंट करके जरूर बताएं.

2 thoughts on “बुरी आत्मा की कहानी – लोक कथा | Hindi Story, Hindi Kahani, Lok Katha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *